घुटनों के दर्द के 10 घरेलू इलाज – Knee Pain Treatment in Hindi

घुटनों का दर्द होना काफी आम समस्या है जो ज्यादातर बुजुर्गों में होती है। लेकिन यह समस्या युवायों या बच्चों में भी हो सकती है। पुरुषों के मुकाबले महिलायों में घुटनों का दर्द होने की सम्भावना ज्यादा होती है।

घुटनों का दर्द होने के मुख्य कारण होता है – उम्र बढ़ने के साथ-साथ जोड़ों के लिगामेंट में कमी आने के कारण घर्षण का बढ़ना और हड्डियों का कमजोर हो जाना। इसके आलावा फ्रैक्चर, लिगामेंट में चोट, joint dislocation और गठिया रोग में जोड़ों में अत्यधिक घर्षण होने कारण भी घुटनों का दर्द हो सकता है।

घुटनों में दर्द के लक्षण निम्न हैं – घुटनों में कठोरता, सूजन और redness और चलने फिरने में अत्यधिक दर्द होना

घुटनों के दर्द का इलाज उसकी गंभीरता पर निर्भर करता है। यदि दर्द अत्यधिक होता है तो डॉक्टर से इसका उचित निदान और उपचार कराना जरूरी होता है। लेकिन कुछ घरेलू उपचारों को अपनाकर भी आप घुटनों के दर्द से राहत पा सकते हैं और अपने जोड़ों को स्वस्थ रख सकते हैं।

यहाँ पर घुटनों का दर्द ठीक करने के 10 सबसे कारगर घरेलू इलाज दिए जा रहे हैं –

1. ठंडी सिंकाई (Cold Compress)

घुटनों के दर्द और सूजन से राहत पाने के लिए उनकी ठंडी सिंकाई करना सबसे आसान और कारगर घरेलू इलाज होता है। यह घुटनों की रक्त कोशिकाओं को ठंडाई प्रदान करके प्रभावित क्षेत्र में रक्त पहुँचने से रोकता है जिससे सूजन में कमी आती है और घुटनों में सुन्नता आ जाने के कारण दर्द का अहसास कम हो जाता है।

  • सिंकाई करने वाले प्लास्टिक के पैड में ठंडा पानी और बर्फ के टुकड़े भर लें।
  • अब इसे अपने घुटनों पर 15-20 मिनट के लिए रखें।
  • इस उपचार को रोज दो-तीन बार करें।

2. सेब का सिरका (Apple Cider Vinegar)

सेब के सिरका को भी घुटनों का दर्द करने में फायदेमंद माना जाता है। इसके क्षारकारी प्रभाव (alkalizing effect) होने के कारण यह घुटनों में मिनरल्स को जमने से रोकता है और हानिकारक विषाक्त पदार्थों को बाहर निकालता है। यह जोड़ों में चिकनाहट को बढ़ाकर उन्हें लचीला बनाये रखने में भी मदद करता है।

  • दो कप साफ पानी में दो चम्मच सेब का सिरका मिलाएं। अब दिनभर इसे थोड़ा-थोड़ा सेवन करें। इसका सेवन तब-तक रोज करें जब-तक कि आपके घुटनों का दर्द पूरी तरह से ठीक न हो जाये।
  • या फिर, नहाने के पानी के टब में दो कप सेब का सिरका डाल दें। अब अपने घुटनों को इस पानी में कम से कम 30 मिनट के लिए डुबोए रखें।
  • या फिर, एक-एक चम्मच सेब का सिरका और जैतून के तेल को मिलाकर घुटनों की मालिश करें।

3. लाल मिर्च (Cayenne Pepper)

लाल मिर्च में capsaicin नामक कंपाउंड होता है जिसमें प्राकृतिक एनाल्जेसिक (natural analgesic) प्रॉपर्टीज पाई जाती हैं और यह दर्द निवारक (pain killer) की तरह काम करता है।

  • डेढ़ कप जैतून के तेल में दो बड़ी चम्मच लाल मिर्च मिलाकर पेस्ट तैयार करें। अब इस पेस्ट को अपने घुटनों पर लगाकर कम से कम एक घंटे के लिए छोड़ दें। ऐसा रोज दो बार करें।
  • या फिर, एक कप सेब के सिरका में आधा चम्मच लाल मिर्च मिलाएं। अब इसमें एक कपड़ा भिगोकर घुटनों के दर्द वाले हिस्से में बाँध दें। इसे भी कम से कम एक घंटे के लिए बांधे रखें। इसे भी रोज दो बार करें।
  • आप घुटनों में capsaicin क्रीम भी लगा सकते हैं।

4. अदरक (Ginger)

घुटनों का दर्द चाहे गठिया, मांसपेशियों में तनाव या किसी चोट के कारण हुआ हो, अदरक इसे ठीक करने में काफी मदद करता है। क्योंकि इसमें एंटी इन्फ्लेमेटरी कंपाउंड्स पाए जाते हैं जो घुटनों की सूजन और दर्द को कम करते है।

  • एक छोटे से ताजा अदरक के टुकड़े को कूट लें और एक कप पानी में डालकर 10 मिनट के लिए उबालें। अब इस पानी को छान लें और स्वादानुसार शहद मिला लें। रोज इस चाय के दो से तीन कप का सेवन करें।
  • आप अपने घुटनों की अदरक के तेल से मालिश भी कर सकते हैं। ऐसा दिन में दो-तीन बार करें।

5. हल्दी (Turmeric)

हल्दी घुटनों के दर्द को ठीक करने में काफी कारगर और प्राकृतिक घरेलू इलाज है। इसमें curcumin नामक केमिकल कंपाउंड पाया जाता है जिसकी एंटी-इन्फ्लेमेटरी और एंटीऑक्सीडेंट प्रॉपर्टीज दर्द को कम करने में मदद करती हैं।

साथ ही, हाल ही में हुई एक रिसर्च के अनुसार हल्दी संधिशोथ (rheumatoid arthritis) होने की सम्भावना को कम करती है। संधिसोध भी घुटनों में दर्द होने का एक प्रमुख कारण होता है।

  • डेढ़-डेढ़ चम्मच हल्दी और अदरक के पाउडर को एक कप पानी में डालकर 10 मिनट के लिए उबालें। अब इसे छानकर और शहद मिलाकर सेवन करें। इसका सेवन दिन में दो बार करें।
  • रोज रात को सोने से पहले एक गिलास दूध में एक चम्मच हल्दी मिलाकर सेवन करें।
  • आप हल्दी की 250 से 500 mg की टेबलेट्स भी ले सकते हैं। उचित डोस जानने के लिए अपने डॉक्टर से संपर्क करें।

नोट – हल्दी blood thinning मेडिसिन्स के साथ रिएक्शन कर सकती है।

6. नींबू (Lemon)

नींबू को भी गठिया के कारण हुए घुटनों के दर्द में लाभकारी पाया गया है। इसमें साइट्रिक एसिड (citric acid) होती है जो यूरिक एसिड क्रिस्टल्स (uric acid crystals) को घोलकर मूत्र के जरिये शरीर से बाहर निकाल देती है। यूरिक एसिड क्रिस्टल्स के कारण भी गठिया और घुटनों का दर्द होता है।

  • दो नींबूओं को छोटे-छोटे टुकड़ों में काट लें।
  • अब इनको एक कपड़े में बांध लें और कपड़े को तिल के तेल में भिगोयें।
  • अब इस कपड़े को अपने घुटनों पर बांध लें।
  • इस कपड़े को दिन में दो बार बदलें।

साथ ही, रोज सुबह खाली पेट नींबू पानी का सेवन करना भी लाभकारी होता है।

7. सरसों का तेल (Mustard Oil)

आयुर्वेद के अनुसार गर्म सरसों के तेल से घुटनों की मालिश करने से इन्फ्लामेशन कम होता है, रक्त संचार (blood circulation) बढ़ता है और दर्द से राहत मिलती है।

  • दो चम्मच सरसों के तेल को गर्म करें।
  • अब इसमें दो लहसुन की पिसी कलियों को डालकर तब तक गर्म करें जब तक कि इसका रंग भूरा न हो जाये।
  • अब इस तेल से अपने घुटनों की circular motions में मालिश करें।
  • इस मालिश को लगातार 10-12 दिन के लिए रोज दो बार करें।

8. सेंधा नमक (Epsom Salt)

सेंधा नमक में मैग्नीशियम सल्फेट पाया जाता है जो घुटनों का दर्द कम करने में फायदेमंद होता है। मैग्नीशियम सल्फेट एक प्राकृतिक muscle relaxant की तरह काम करता है और मांसपेशियों में से एक्स्ट्रा फ्लूइड बाहर निकालता है जिससे इन्फ्लामेशन, सूजन और दर्द में कमी आती है।

  • डेढ़ कप सेंधा नमक को नहाने के गर्म पानी के टब में डालकर घोल लें।
  • अब इस पानी में अपने घुटनों को कम से कम 15 मिनट के लिए डुबोए रखें।
  • इस उपचार को रोज करें जब तक कि आपका दर्द पूरी तरह से ठीक न हो जाये।

नोटउच्च रक्तचाप (high blood pressure), मधुमेह (diabetes) और हार्ट के मरीज इस उपचार को न करें।

9. मेथी के बीज (Fenugreek Seeds)

मेथी के बीजों में एंटी-इन्फ्लेमेटरी और एंटीऑक्सीडेंट प्रॉपर्टीज होने के कारण यह घुटनों के दर्द में राहत प्रदान करते हैं। साथ ही, मेथी के बीज गर्म प्रकृति के होने के कारण गठिया के दर्द को भी कम करते हैं।

  • एक कप साफ पानी में एक चम्मच मेथी के बीज डालकर रात भर के लिए रख दें। सुबह इन बीजों को छान लें और चबाकर कर खाएं। इस उपचार को कुछ हफ़्तों के लिए रोज करें।
  • एक मुट्ठी मेथी के बीजों को भूनकर पीस लें और किसी एयरटाइट जार में पैक करके रख लें। इस पाउडर की दो चम्मच मात्रा में जरूरत अनुसार पानी मिलाकर पेस्ट तैयार करें और अपने घुटनों पर लगायें। इसे कम से कम 30 मिनट के लिए ऐसा ही लगा रहने दें और फिर साफ कर लें। इस उपचार को हफ्ते में दो बार करें।

10. नीलगिरी का तेल (Eucalyptus Oil)

नीलगिरी के तेल में analgesic या दर्दनिवारक प्रॉपर्टीज होती हैं जो घुटनों का दर्द कम करने में मदद करती हैं।

  • तीन चम्मच जैतून के तेल में 5-5 बूंदें नीलगिरी के तेल और पेपरमिंट के तेल मिलाएं।
  • अब इस तेल से अपने घुटनों की circular motion में मालिश करें।
  • इस उपचार को रोज करें जब तक कि दर्द पूरी तरह से ठीक न हो जाए।

घुटनों का दर्द ठीक करने के लिए ऊपर दिए गए उपचारों को नियमित अपनाएं और साथ ही नीचे दी गई कुछ बातों का भी ध्यान रखें –

  • यदि आपका वजन बढ़ा हुआ है तो जितना जल्दी हो सके उतने जल्दी अपने शरीर के मोटापा को कम करें।
  • ऊँची एड़ी वाले जूते न पहनें।
  • मैग्नीशियम और ओमेगा-3 फैटी एसिड्स के सप्लीमेंट्स का नियमित सेवन करें।
  • रोज कम से कम 15 मिनट के लिए खुली घास में नंगे पांव टहलें।
  • नियमित योग करें।
  • धूम्रपान और शराब का सेवन न करें क्योंकि इससे हीलिंग प्रोसेस धीमी हो जाती है।
  • कार्टिलेज को लचीला बनाये रखने के लिए और अपने शरीर को हाइड्रेटेड रखने के लिए नियमित खूब पानी पियें।

यदि इन उपचारों को नियमित अपनाने के बाद भी आपके घुटनों का दर्द ठीक नहीं हो रहा है तो किसी अच्छे डॉक्टर से जाँच कराएँ।

यह भी पढ़ें – जोड़ों के दर्द के 10 घरेलू इलाज

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

error: Content is Copyrighted