पेट दर्द का घरेलू इलाज – Stomach Pain Treatment in Hindi

पेट दर्द होना एक सामान्य समस्या है जिसकी गंभीरता उसके लक्षणों और दर्द की गति पर निर्भर करती है। इस दौरान आपको अपने पेट के अन्दर और भाहर दोनों तरफ दर्द का अनुभव हो सकता है और साथ ही कुछ अन्य समस्याएं जैसे गैस, जी मिचलाना, दस्त, उल्टी आदि की समस्या भी हो सकती है।

पेट के दर्द के कुछ सामान्य कारण निम्न हैं – बदहजमी (indigestion), गैस, heartburn, कब्ज (constipation), पेट में इन्फेक्शन, जरुरत से अधिक खाना और दुग्ध उत्पादों को न पचा पाना (lactose intolerance)। हालाँकि पेट दर्द कुछ गंभीर समस्यायों जैसे ulcer, हर्निया (hernia), पथरी, मूत्र नली में संक्रमण (urinary tract infection) और एपेंडिसाइटिस (appendicitis) के कारण भी हो सकता है।

जब भी हमें पेट दर्द होता है तो हम कोई और काम नहीं कर पाते। इसलिए इसका कारण जाने के वजाय कैसे इसे जल्दी से जल्दी ठीक किया जाए इसके बारे में सोचने लगते हैं।

कुछ घरेलू उपचारों को अपनाकर आप पेट दर्द में तुरंत राहत पा सकते हैं। यह घरेलू उपचार ज्यादातर बदहजमी, गैस, अपच या पाचन तंत्र से सम्बंधित परेशानियों के कारण हुए पेट दर्द में राहत प्रदान करते हैं। यदि इन उपचारों से आपको लाभ न मिले तो डॉक्टर से उचित जाँच कराएँ।

1. अदरक (Ginger)

अदरक में एंटीऑक्सीडेंट और एंटीइन्फ्लेमेटरी प्रॉपर्टीज होती हैं जो पाचन को नियंत्रित करती हैं। साथ ही, अदरक फ्री रेडिकल्स के प्रोडक्शन को कम करने में मदद करता है और पाचक रसों (digestive juices) को बढ़ाता है, जो पेट की एसिड्स को neutralize करते हैं।

  • एक मध्यम आकार के ताजे अदरक को स्लाइसेस में काट लें।
  • अब इन्हें एक कप पानी में डालकर 10 मिनट के लिए उबालें।
  • अब इसमें स्वादानुसार शहद डाल दें और फिर छान लें। आपकी अदरक चाय तैयार है।
  • इस चाय को रोज दो-तीन बार सेवन करें। इससे पाचन बढ़ेगा और पेट दर्द ठीक होगा।

2. सौंफ (Fennel)

अपच या खट्टी डकार के कारण हुए पेट दर्द में सौंफ काफी फायदेमंद होती है क्योंकि इसमें carminative, diuretic, दर्द निवारक और रोगाणुरोधी प्रॉपर्टीज होती हैं। सौंफ अपच के अन्य लक्षणों जैसे गैस और पेट फूलने के समस्या में भी राहत प्रदान करती है।

  • एक चम्मच कुटी हुई सौंफ को एक कप पानी में डालकर 10 मिनट के लिए उबालें। इसके बाद स्वादानुसार शहद मिलाकर सेवन करें।
  • या फिर, खाना खाने के बाद दो चम्मच सौंफ को चबाकर खाएं।
  • इनमें से किसी भी एक उपचार को रोज तीन बार करें।

3. हींग (Asafetida)

हींग में antispasmodic और antiflatulent properties होती हैं जो गैस और अपच के कारण हुए पेट दर्द में राहत प्रदान करती हैं।

  • सिर्फ एक गिलास पानी एक चुटकी हींग को अच्छी तरह से घोलकर सेवन करें। ऐसा दिन में दो तीन बार करें। आप इसमें एक चुटकी सेंधा नमक भी डाल सकते हैं। यह उपचार पेट दर्द और गैस, दोनों में सामान मात्रा में फायदेमंद होता है।
  • या फिर, एक कप पानी में एक चम्मच हींग घोले लें। अब इस पानी में एक कपड़ा भिगोकर अपने पेट पर 10-15 मिनट के लिए रखें। इससे पेट को आराम मिलेगा और दर्द कम होगा। ऐसा रोज करें।

4. कैमोमाइल (Chamomile)

कैमोमाइल पेट दर्द को शांत करती है और पाचन तंत्र की मांसपेशियों को आराम प्रदान करती है। साथ ही इसमें anti-inflammatory, antioxidant और sedative properties भी होती हैं।

  • एक चम्मच सूखी कैमोमाइल को एक में डालें।
  • अब ऊपर से इसमें गर्म उबलता पानी डाल दें।
  • अब इसे 15 मिनट के लिए थोड़ा ठंडा होने दें और फिर अपने स्वादानुसार शहद या निम्बू का रस मिला लें।
  • अब इस चाय को धीरे-धीरे चूसकर सेवन करें।
  • इसका सेवन दिन में दो-तीन बार करें।

5. बेकिंग सोडा और नींबू (Baking Soda and Lemon)

बेकिंग सोडा क्षारीय स्वाभाव (alkaline nature) का होने के कारण शरीर में pH लेवल को नियंत्रित करता है और इन्फेक्शन से लड़ता है। इसलिए एसिडिटी और अपच के कारण हुए पेट दर्द में यह राहत प्रदान करता है। निम्बू में अत्यधिक विटामिन सी होता है। विटामिन सी एक शक्तिशाली एंटी-ऑक्सीडेंट होता है जो शरीर से फ्री रेडिकल और विषाक्त पदार्थों को निकालने में मदद करता है।

  • एक ताजा निम्बू को काटकर एक गिलास पानी में निचोड़ लें। अब इसमें एक चम्मच बेकिंग सोडा और एक चौथाई चम्मच नमक मिला दें।
  • अब इसे अच्छी तरह से घोलकर पी लें।
  • इस उपचार को दिन में तीन बार करें जब तक कि समस्या ठीक न हो जाये।Note: Do not use this remedy if you have high blood pressure or you are on a low-sodium diet.

नोट – यदि आपको उच्च रक्तचाप (high blood pressure) की समस्या है या आप low-sodium diet पर हैं तो इस उपचार का प्रयोग न करें।

6. पिपरमेंट (Peppermint)

पिपरमेंट भी पेट दर्द को ठीक करने में मदद कर सकता है। पाचन तंत्र की मांसपेशियों पर इसका antispasmodic effect होता है जो गैस के कारण पैदा हुए दर्द को कम करता है। साथ ही पिपरमेंट पाचन को भी सुधारता है।

  • रोज दो या तीन कप पिपरमेंट की चाय का सेवन करें। चाय बनाने के लिए एक चम्मच सूखे पिपरमेंट को एक कप उबलते पानी में डालें। अब इसे 10 मिनट के लिए उबालें। इसके बाद इस छानकर स्वादानुसार शहद मिला लें और सेवन करें।
  • या फिर, आप पिपरमेंट की पत्तियों को चबा भी सकते हैं।

7. सेब का सिरका (Apple Cider Vinegar)

सेब का सिरका भी अपच और गैस के कारण हुए पेट दर्द में राहत प्रदान करता है। सेब के सिरका में मौजूद एंटीबायोटिक प्रॉपर्टीज पेट को शांत करती हैं और बदहजमी को ठीक करती हैं।

  • एक कप गर्म पानी में एक चम्मच सेब का सिरका मिलाएं।
  • अब इसमें एक चम्मच शहद डाल दें।
  • इसे अच्छी तरह से घोलकर सेवन करें।
  • इसे हर दो-तीन घंटे में सेवन करते रहें जब तक कि पेट दर्द पूरी तरह से ठीक नहीं हो जाता।

8. दही (Yogurt)

दही पेट के संपूर्ण स्वास्थ्य के लिए बहुत ही फायदेमंद खाद्य पदार्थ होता है। असल में, दही में गुड बैक्टीरिया पाए जाते हैं जो पाचन को सुधारते हैं और अपच के कारण हुए पेट दर्द को ठीक करने में मदद करते हैं।

  • एक कप पानी में दो चम्मच सादा दही और एक चुटकी नमक डालें।
  • अब इसमें तीन चम्मच ताजा धनिया की पत्तियों का रस आधा चम्मच इलायची पाउडर डालकर मिलाएं।
  • इसे अपने खाने के एक घंटे बाद सेवन करें।
  • ऐसा नियमित करने से कभी भी पेट दर्द, बदहजमी और गैस की समस्या नहीं होती।

9. चावल का पानी (Rice Water)

जब भी आपको पेट में दर्द हो तो सिर्फ सादा और नरम भोजन का ही करें। चावल का पानी भी इसी श्रेणी में आता है जो शरीर में demulcent की तरह काम करता है। demulcent का मतलब पेट की परत में पैदा हुए इन्फ्लामेशन को कम करना और दर्द ठीक करना।

  • सबसे पहले डेढ़ कप चावल को पानी में धोएं।
  • अब छः कप साफ पानी को एक कड़ाही में गर्म करें और ऊपर से in चावलों को डाल दें।
  • जब यह चावल नरम हो जाएँ तो इन्हें छानकर अलग कर लें।
  • अब बचे पानी में डेढ़ चम्मः शहद डाल दें।
  • अब इस पानी को चुस्की लेकर सेवन करें।
  • इस पानी का सेवन दिन में दो बार करें।

आप चावल और दही को मिलाकर सादे भोजन के रूप में भी सेवन कर सकते हैं।

10. पेट की सिकाई करना

पेट की सिकाई भी दर्द से राहत पाने में काफी मददगार होती है। यह ब्लड सर्कुलेशन को ठीक करती है और पाचन को बढ़ाती है। जैसे-जैसे पेट का भोजन ठीक से पचता जायेगा वैसे-वैसे दर्द भी कम होता जायेगा।

  • अपने पेट पर heating pad या hot water bottle को एक बार में 10 मिनट के लिए रखें। अच्छा रिजल्ट पाने के लिए heating device के ऊपर पेट रखकर लेट जाएँ।
  • 15 से 20 मिनट के लिए hot shower लेने से भी सामान लाभ मिलता है।

यदि तीन-चार इन उपायों को अपनाने के बाद भी फायदा नहीं मिल रहा है तो अपने डॉक्टर से जाँच कराकर पेट दर्द होने का सही कारण पता लगायें। यदि आपको साथ में बुखार और सिर दर्द भी हो रहा है तो भी डॉक्टर से मिलें।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

error: Content is Copyrighted