पीलिया के लक्षण और घरेलू इलाज – Jaundice Symptoms and Treatment in Hindi

पीलिया अक्सर शिशुओं (babies) में होता है, आमतौर पर जन्म के तुरंत बाद। हालांकि यह वयस्कों में भी हो सकता है।

इसके होने का सबसे मुख्य कारण है रक्त में पीले बाइल पिगमेंट्स जिन्हें बिलीरुबिन (bilirubin) कहा जाता है, का लेवल बढ़ जाना। यह बाइल पिगमेंट्स शिशुओं के शरीर में पुराने और क्षतिग्रस्त रक्त कणों की नेचुरल प्रोसेसिंग के दौरान बनते हैं।

सामान्य तौर पर यह पिगमेंट लिवर के जरिये शरीर से बाहर निकल जाते हैं। लेकिन जब लिवर जब इन पिगमेंट्स को बाहर नहीं निकाल पाता तो रक्त में इनका लेवल बढ़ने लगता है और पीलिया हो जाता है।

पीलिया कई प्रकार का होता है और इसके होने के कई कारण होते हैं जैसे शरीर में इन्फेक्शन, कुछ मेडिसिन्स का प्रयोग और अन्य मेडिकल कंडीशन जैसे रक्त विकार (blood disorders), पथरी, हेपेटाइटिस, लिवर की बीमारी, अग्नाशय का कैंसर (pancreatic cancer) आदि। पीलिया होना लिवर, अग्न्याशय (pancreas) या किडनी खराब होने का संकेत भी हो सकता है।

पीलिया होने के सबसे सामान्य लक्षण हैं – स्किन, ऑंखें, जीभ और पेशाब का पीला हो जाना। इसके होने के कारणों के आधार पर निम्न लक्षण भी हो सकते हैं – थकान (fatigue), सिर दर्द (headache), बुखार (fever), भूख न लगना (loss of appetite), जी मिचलाना (nausea), उल्टी (vomiting), वजन घटना (weight loss), पेट में दर्द (abdominal pain), स्किन में खुजली और मल का पीला होना।

पीलिया का घर पर ही इलाज करने के लिए कुछ घरेलू नुस्खों को अपनाया जा सकता है। यह लिवर फंक्शनिंग बढ़ा देते हैं और बाइल पिगमेंट्स को शरीर से बाहर निकालने में मदद करते हैं।

पीलिया के 10 सबसे कारगर घरेलू इलाज नीचे दिए जा रहे हैं।

ध्यान रखें – यह घरेलू इलाज आपके पीलिया को जल्दी ठीक करने में मदद करते हैं। पीलिया सही कारण और इलाज करने के सबसे सबसे पहले डॉक्टर से जाँच कराएँ और उचित मेडिसिन्स का सेवन करें। इसके आलावा उचित आराम लें, नियमित एक्सरसाइज करें और ज्यादा से ज्यादा खुली और तजा हवा में रहें।

1. नींबू (Lemons)

नींबू में लिवर हीलिंग प्रॉपर्टीज होती हैं जो पीलिया को ठीक करने में मदद करती हैं। Diuretic nature का होने के कारण यह यूरिन प्रोडक्शन को बढ़ाता है जिससे रक्त में मौजूद हार्मफुल प्रोडक्ट्स के साथ-साथ bilirubin को बाहर निकालने में मदद मिलती है। साथ ही, यह बाइल प्रोडक्शन और खनिज अवशोषण (mineral absorption) को भी बढ़ाता है।

  • एक गिलास पानी में आधा नींबू निचोड़ कर सेवन करें। इसका सेवन दिन में दो-तीन बार करें।
  • या फिर, 10 नींबू की पत्तियों को एक गिलास पानी में 5 मिनट के लिए उबालें। फिर इसे छानकर पी लें। इसे भी दिन में तीन बार पियें।

2. गन्ना (Sugarcane)

पीलिया से तुरंत राहत पाने के लिए गन्ना भी काफी लोकप्रिय नुस्खा है। पीलिया के दौरान शरीर के ग्लूकोस लेवल में अचानक गिरावट आ जाती है। आसानी से पचने वाला गन्ना एनर्जी लेवल को फिर से बढ़ाने में मदद करता और पीलिया से जल्दी रिकवरी करता है।

साथी ही, गन्ना पूरी तरह से एल्कलाइन नेचर का होने के कारण यह शरीर में एसिड लेवल को लो बनाये रखने में मदद करता है और शरीर को हाइड्रेटेड रखता है।

  • एक गिलास गन्ना के रस में आधा नींबू निचोड़ लें। अब इसे अच्छी तरह से मिलाकर सेवन करें। अपने शरीर को वेल हाइड्रेटेड इसका सेवन दिन में दो-तीन बार करें।
  • या फिर, एक कप गन्ने के रस में एक चम्मच तुलसी कि पत्तियों का पेस्ट डालकर दिन में दो बार सेवन करें।

3. जौ (Barley)

पीलिया का एक और कारगर घरेलू नुस्खा है जौ। जौ शरीर में diuretic की तरह काम करती है और bilirubin के साथ-साथ अन्य विषाक्त पदार्थों को शरीर से बाहर निकालने में मदद करती है।

  • तीन लीटर पानी में एक कप जौ मिलाएं। अब इसे कुछ घंटों के लिए हल्की आंच में उबालें और फिर छानकर ठंडा होने के लिए रख दें। रोज इस पानी के पांच गिलास पियें।
  • या फिर, एक कप पानी में एक-एक चम्मच भुने हुए जौ और शहद मिलाकर सेवन करें। इसका सेवन दिन में दो बार करें।

4. हल्दी (Turmeric)

हल्दी में curcumin नामक कंपाउंड होता है जो लिवर की detoxification process में मदद करता है। यह कंपाउंड शराब और अन्य हानिकारक विषाक्त पदार्थों से लिवर को डैमेज होने से बचाता है। साथ ही, इसमें मौजूद मेडिकल और हीलिंग प्रॉपर्टीज फास्टर रिकवरी में मदद करती हैं।

  • एक गिलास गर्म पानी में एक चौथाई चम्मच हल्दी मिलाएं। रोज दिन में दो-तीन बार इसका सेवन करें।
  • या फिर, एक कप गर्म पानी में एक चम्मच हल्दी, एक ताजा नींबू का रस, एक चुटकी लाल मिर्च और एक चम्मच शहद मिलाकर सेवन करें। कुछ हफ़्तों के लिए इसका सेवन रोज करें।

5. अदरक (Ginger)

अदरक एक प्राकृतिक detoxifier होता है और लिवर और पेट के कामकाज को ठीक रखने में मदद करता है।

  • एक छोटे अदरक के टुकड़े से जूस निकाल लें।
  • अब इस अदरक के जूस की आधा चम्मच मात्रा में एक-एक चम्मच पुदीना का जूस, शहद और नींबू का जूस मिलाएं।
  • इसका सेवन रोज तीन-चार बार करें।

6. मूली (Radishes)

मूली लिवर के लिए फायदेमंद होती है इसलिए यह पीलिया को ठीक करने में भी मददगार है। साथ ही, यह एक शक्तिशाली detoxifier की तरह काम करती है जिससे रक्त साफ होता है और शरीर से bilirubin और अन्य विषाक्त पदार्थ बाहर निकल जाते हैं। मूली और इसकी पत्तियां दोनों को ही पीलिया के इलाज में उपयोग किया जा सकता है।

  • कुछ ताजा मूली की पत्तियों से जूस निकल लें। लगातार 10 दिनों के लिए रोज दो बार एक-एक गिलास की मात्रा में इस जूस का सेवन करें। आप इसमें कुछ पिसी हुई तुलसी की पत्तियां भी मिला सकते हैं।
  • या फिर, रोज अपने खाने के साथ सलाद के रूप में मूली का सेवन करें। आप इसका सूप बनाकर भी पी सकते हैं।

7. टमाटर (Tomatoes)

टमाटर में अत्यधिक lycopene होता है जो लिवर को डैमेज होने से बचाता है और पीलिया के कारण लिवर में हुए नुकसान को ठीक करता है। साथ ही, टमाटर प्रबल detoxifier की तरह काम करता है, मतलब यह शरीर से विषाक्त पदार्थों को बाहर निकालता है।

  • पांच टमाटरों को डेढ़ गिलास पानी में 10 से 15 मिनट के लिए उबालें।
  • अब इनको छीलकर और एक कपड़े में बांधकर जूस निकाल लें।
  • अब इस जूस में एक चुटकी काली मिर्च और नमक डाल दें।
  • रोज सुबह खाली एक गिलास जूस का सेवन करें।
  • इस उपचार को लगातार 15 दिन के लिए रोज एक बार करें।

8. बादाम (Almonds)

बादाम रक्त से हानिकारक पदार्थों को बाहर निकालने में मदद करता है, इन्फेक्शन से लड़ता है और लिवर के कामकाज को ठीक रखने में काफी अहम भूमिका निभाता है। साथ ही, बादाम में लिवर के लिए जरूरी फाइबर, मैग्नीशियम, राइबोफ्लेविन, आयरन और कैल्शियम भरपूर मात्रा में होते हैं।

  • आठ बादाम, तीन खजूर और तीन छोटी इलाइची को रातभर के लिए पानी में डुबोकर रखें।
  • सुबह इनको छील लें और खजूर के बीज अलग कर दें।
  • अब इन सभी पदार्थों को एकसाथ पीसकर पेस्ट बना लें।
  • इस पेस्ट में एक चम्मच चीनी और एक चम्मच मक्खन मिलाकर सेवन करें।
  • इसका सेवन कम से कम 15 दिन के लिए रोज करें।

9. गाजर (Carrots)

गाजर भी पीलिया के इलाज में काफी मददगार खाद्य पदार्थ है। यह लिवर को साफ करने में मदद करती है और हो चुके डैमेज को ठीक करती है। साथ ही, इसमें बीटा-कैरोटीन भरपूर मात्रा में पाया जाता है। बीटा-कैरोटीन को हमारा शरीर विटामिन ए में परिवर्तित कर देता है। मजबूत इम्यून सिस्टम और faster recovery के लिए विटामिन ए जरूरी होता है।

  • अपने लिवर को स्वस्थ रखने के लिए रोज एक गिलास गाजर का जूस पियें।
  • आप गाजर को सलाद के रूप में या सब्जी बनाकर भी सेवन कर सकते हैं।

10. मुलेठी

मुलेठी को काफी अच्छा लिवर detoxifier माना जाता है। यह लिवर की फिल्टर करने की क्षमता को बढ़ाकर शरीर में जमा हुए टॉक्सिक मेटाबोलिक पदार्थों को बाहर निकालता है।

  • एक-एक चम्मच पिसी मुलेठी और सेंधा नमक को आपस में मिलाएं। अब इसको पानी के साथ सेवन करें। इसका सेवन लगातार 15 दिनों के लिए रोज दिन में दो बार करें।
  • या फिर, एक-एक चम्मच मुलेठी का पाउडर और अदरक के पाउडर को डेढ़ कप पानी में उबालें। अब इस पानी को 10 मिनट के लिए ठंडा होने दें और फिर ऊपर से एक चम्मच नींबू का रस दाल दें। कुछ दिनों के लिए इसे रोज एक बार सेवन करें।

ऊपर दिए गए घरेलू इलाज पीलिया को जल्दी ठीक करने में मदद करते हैं। इन उपचारों को अपनाने के साथ-साथ अपने डॉक्टर से भी सलाह लेते रहें। इन सब के आलावा रोज एक्सरसाइज करें और कुछ समय के लिए ताजा हवा में टहलें।

1 Response

  1. मनोज कश्यप कहते हैं:

    बहुत बढ़िया उपाय हैं.

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

error: Content is Copyrighted