आँखों को स्वस्थ रखने वाले 10 खाद्य पदार्थ

कई लोगों को आँखों से सम्बंधित कई समस्याएँ होती है जैसे आंख की रोशनी कम हो जाना, विकृत दृष्टि, दूर या पास का कम दिखाई देना आदि। आँखों को उचित पोषक तत्व प्रदान करने से और ठीक से देखभाल करने से, उन्हें लंबे समय तक स्वस्थ रखा जा सकता है।

आँखों का सम्पूर्ण स्वास्थ्य कुछ पोषक तत्वों जैसे विटामिन ए और सी, बायो फ्लेवोनॉयड्स, कैरोटीनॉयड, ओमेगा-3 फैटी एसिड्स, मिनरल्स और एंटीऑक्सीडेंट्स पर निर्भर करता है।

कुछ खाद्य पदार्थों का नियमित सेवन करने से आप कई आँखों की प्रॉब्लम्स से बच सकते हैं और लम्बे समय तक उन्हें स्वस्थ रख सकते हैं।

यहाँ पर आँखों को स्वस्थ रखने वाले 10 सबसे बेस्ट खाद्य पदार्थ दिए जा रहे हैं –

1. पालक

यदि आप अपनी आँखों की रोशनी को बढ़ाना चाहते हैं तो पालक का नियमित सेवन करें। साथ ही, अन्य हरी सब्जियाँ जैसे गोभी, स्विस कार्ड, शलजम, सरसों की पत्तियाँ और हरा कोलार्ड का भी सेवन करते रहें।

पालक में कई पोषक तत्व जैसे विटामिन ए, लुटेइन (lutein) और जेएक्सेंथिन (zeaxanthin) पाए जाते हैं जो आँखों के लिए फायदेमंद होते हैं। विटामिन ए कॉर्निया को प्रोटेक्ट करता है, लुटेइन आँखों को अल्ट्रावायलेट रेडिएशन से बचाता है और जेएक्सेंथिन विज़ुअल डेवलपमेंट में सहायक होता है।

ज्यादा से ज्यादा फायदा लेने के लिए सुबह खाली पेट पालक के जूस का सेवन करें। साथ ही, आप पालक को सब्जी, सलाद या तलकर भी सेवन कर सकते हैं।

2. सैल्मन फिश

सैल्मन फिश का नियमित सेवन करने से रेटिना को डैमेज होने से बचाने में मदद मिलती है और अंधेपन से बचाव होता है। सैल्मन में भरपूर मात्रा में ओमेगा-3 फैटी एसिड्स होती हैं जो आँखों को ड्राई होने से बचाती हैं। साथ ही, ओमेगा-3 फैटी एसिड्स उम्र से संबंधित मैकुलर डिजनरेशन से भी बचाती हैं।

विशेषज्ञों के अनुसार सैल्मन फिश का सेवन हफ्ते में दो बार करना चाहिए। सैल्मन फिश को आप सूप, सलाद या सब्जी के रूप में सेवन कर सकते हैं। साथ ही, अन्य कोल्ड वाटर फिश जो आँखों के लिए फायदेमंद होती हैं वो निम्न हैं  सार्डिन, हिलसा, मैकेरल और टूना।

  आंखों की रोशनी बढ़ाने के घरेलू उपाय - Eyesight Improve Tips in Hindi

3. गाजर

गाजर में अत्यधिक बीटा-कैरोटीन होता है जो शरीर में विटामिन ए में परिवर्तित हो जाता है। विटामिन ए रतौंधी को रोकता है, कॉर्निया को स्वस्थ और साफ़ रखता है और आँखों के सेल्स को प्रोटेक्ट करता है।

गाजर में लुटेइन (lutein) भी होता है, जो मैक्युला में पिगमेंट डेंसिटी को बढ़ाने में मदद करता है। मैक्युला रेटिना के बीच में अंडे केआकार का पीला स्पॉट होता है। इसके फलस्वरूप रेटिना की रक्षा होती है और मैकुलर डिजनरेशन की संभावना कम होती है। गाजर में फाइबर और पोटैशियम भी अत्यधिक मात्रा में होता है।

गाजर को आप कच्चा, पकाकर, सूप, जूस, सलाद, सब्जी आदि के रूप में सेवन कर सकते हैं।

4. ब्लू बैरीज़

ब्लू बैरीज़ एंटीऑक्सीडेंट, एंटी इंफ्लेमेटरी, कोलेजन-स्टैबिलाइज़िंग, वासो प्रोटेक्टिव और रोडोप्सिन रीजेनेरेटिंग प्रॉपर्टीज होती हैं जो आँखों के कामकाज को ठीक रखने में मदद करती हैं।

ब्लू बेरीज का नियमित सेवन करने से आँखों की रोशनी ठीक होती है और आँखों के पीछे की रक्त कोशियाएँ मजबूत होती हैं। ब्लू बेरीज में एन्थोसायनिन होता है जो हाई ब्लड प्रेशर और इन्फ्लामेशन को कम करता है और धमनियों में ब्लॉकेज को रोकता है जिससे रेटिना तक पर्याप्त मात्रा में ऑक्सीजन पहुँच पाती है।

ब्लू बेरीज के साथ-साथ ब्लैक बेरीज, मलबेरीज, क्रैनबेरीज और बिलबेरीज का भी सेवन नियमित रूप से करें।

5. शकरकंद

शकरकंद में अच्छी खासी मात्रा में विटामिन ए होता है जो आँखों के लिए एक जरूरी पोषक पदार्थ है। विटामिन ए आँखों की रोशनी को बढ़ाता है और मोतियाबिंद से बचाता है। साथ ही, ड्राई ऑय की समस्या से निपटने के लिए और आँखों को बैक्टीरियल और वायरल इन्फेक्शन से बचाने के लिए भी विटामिन ए आवश्यक होता है। शकरकंद में बीटा-कैरोटीन, पोटैशियम और फाइबर भी भरपूर होता है।

  आंखों के नीचे के काले घेरे (डार्क सर्कल्स) दूर करने के घरेलू उपाय - Dark Circles Home Remedies in Hindi

शकरकंद साल भर 400 अलग-अलग किस्मों में उपलब्ध होता है और इसका सेवन कई प्रकार से किया जा सकता है जैसे पकाकर, उबालकर, तलकर या भूनकर।

6. मिर्च

यदि आप अपनी आँखों के सम्पूर्ण स्वास्थ्य को ठीक रखना चाहते हैं तो आपको विभिन्न प्रकार की मिर्च जैसे हरी, लाल, पीली और काली मिर्च का नियमित सेवन करना जरूरी है।

मिर्च विटामिन ए और सी के सबसे बड़े स्त्रोतों में से एक होती हैं। विटामिन ए आँखों की रोशनी को ठीक रखता है और विटामिन सी आँखों को मोतियबिंद से बचाता है।

साथ ही, मिर्च में विटामिन बी6, लुटेइन, जेएक्सेंथिन, बीटा-कैरोटीन और लायकोपीन भी भरपूर मात्रा में होते हैं। यह सभी पोषक पदार्थ आँखों के सम्पूर्ण स्वास्थ्य को ठीक रखने के लिए जरूरी होते हैं।

मिर्च को आप अपनी सब्जी, सलाद, अचार आदि में मिलाकर सेवन कर सकते हैं।

7. अखरोट

अखरोट में अच्छी खासी मात्रा में ओमेगा-3 फैटी एसिड्स होते हैं जो आँखों के सम्पूर्ण स्वास्थय को ठीक रखने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। साथ ही, अखरोट में जिंक, विटामिन ई और एंटीऑक्सीडेंट्स पाए जाते हैं जो इन्फ्लेमेशन से लड़ते हैं और हृदय को स्वस्थ रखते हैं। अखरोट के साथ-साथ आप अन्य प्रकार के नट्स जैसे बादाम और मूंगफली का भी सेवन कर सकते हैं।

नियमित रूप से अखरोट का सेवन करके आप अपनी आँखों के स्वास्थ्य को काफी हद तक सुधार सकते हैं और उन्हें विभिन्न प्रकार की दृष्टि समस्यायों से बचा सकते हैं।

8. एवोकाडो

एवोकाडो को आँखों के लिए काफी फायदेमंद माना जाता है। इसमें भी लुटेइन होता है जो मैकुलर डिजनरेशन, मोतियबिंद और अन्य उम्र सम्बन्धी आँखों की समस्यायों से बचाता है।

इसमें बीटा-कैरोटीन और विटामिन बी6, सी और ई भी पाए जाते हैं जो आँखों की रोशनी को ठीक रखने में मदद करते हैं और उन्हें ऑक्सीडेटिव स्ट्रेस डैमेज से बचाते हैं।

एवोकाडो को आप सीधे फल की तरह खा सकते हैं या इसकी सलाद, सूप या सैंडविच बनाकर भी सेवन कर सकते हैं।

  आंखों के नीचे के काले घेरे (डार्क सर्कल्स) दूर करने के घरेलू उपाय - Dark Circles Home Remedies in Hindi

9. ब्रोकोली

ब्रोकोली में अच्छी खासी मात्रा में विटामिन बी12 होता है। शरीर में विटामिन बी12 की कमी होने पर ऑंखें प्रकाश के प्रति अत्यधिक संवेदनशील हो जाती हैं जिसके कारण उनमें इन्फ्लेमेशन, धुंधली दृष्टि और थकान की समस्या हो सकती है। साथ ही, विटामिन बी12 मोतियबिंद को रोकने में भी एक महत्वपूर्ण भूमिका अदा करता है औरउसकी प्रगति को धीमा करता है।

ब्रोकोली में शक्तिशाली फाइटोकेमिकल एंटीऑक्सीडेंट्स जैसे लुटेइन, जेएक्सेंथिन और विटामिन ए भी पाए जाते हैं जो आँखों को स्वस्थ रखने के लिए जरूरी होते हैं।

ज्यादा से ज्यादा पाने के लिए ब्रोकोली को पकाने की जगह कच्चा सेवन करें। आप इसको अपनी सलाद या स्नैक्स के रूप में सेवन कर सकते हैं।

10. स्ट्रॉबेरी

स्ट्रॉबेरी में भी अच्छी मात्रा में विटामिन सी पाया जाता है, जो आँखों को स्वस्थ रखता है और विभिन्न बिमारियों से बचाता है।

साथ ही, स्ट्रॉबेरी में मौजूद विभिन्न एंटीऑक्सीडेंट्स आँखों की कई समस्याएं जैसे सूखापन, मैकुलर डिजनरेशन और दृष्टि दोष से बचाते हैं।

रोज दिन में तीन बार स्ट्रॉबेरी का सेवन करने से आप अपनी आँखों को उम्र से सम्बंधित समस्यायों से बचा सकते हैं। आप स्ट्रॉबेरी को स्नैक्स, फ्रूट सलाद या जूस के रूप में सेवन कर सकते हैं।

ऊपर दिए गए खाद्य पदार्थों को आँखों के सम्पूर्ण स्वास्थ को ठीक रखने के लिए सबसे फायदेमंद माना जाता है।  इसलिए अपनी आँखों को जरूरी पोषण देने के लिए इनका नियमित सेवन करते रहें।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.