कैल्शियम की कमी के लक्षण और इलाज – Calcium Deficiency Symptoms and treatment in Hindi

कैल्शियम हमारे शरीर को मजबूत और स्वस्थ बनाये रखने के लिए एक महत्वपूर्ण खनिज पदार्थ है। यह हड्डियों और दांतों के विकास के लिए जरुरी होता है। यह मांसपेशियों और तंत्रिका तंत्र की क्रियायों को नियंत्रित करने में भी मदद करता है और साथ ही ब्लड के pH बैलेंस को भी नियंत्रित करता है।

हमारे शरीर में अन्य खनिजों के मुकाबले कैल्शियम सबसे ज्यादा मौजूद होता है। इसका लगभग 99 प्रतिशत हिस्सा हमारी हड्डियों और दांतों में मौजूद होता है। अन्य 1 प्रतिशत हिस्सा हमारे ब्लड, मांसपेशी और शरीर के अन्य भागों में होता है।

आपको शरीर को कितने कैल्शियम की जरुरत है यह आपकी उम्र और आपके लिंग (स्त्री या पुरुष) पर निर्भर करता है। उम्र के अनुसार हमारे शरीर को कितने कैल्शियम की जरुरत होती है इसकी तालिका नीचे दी जा रही है –

  • 0 से 6 महीना – 200 मि.ग्रा./रोज
  • 7 से 12 महीना – 260 मि.ग्रा./रोज
  • 1 से 3 साल – 700 मि.ग्रा./रोज
  • 4 से 8 साल – 1000 मि.ग्रा./रोज
  • 9 से 18 साल – 1300 मि.ग्रा./रोज
  • 19 से 50 साल – 1000 मि.ग्रा./रोज
  • 51 से 70 साल – 1000 मि.ग्रा./रोज
  • 71+ साल – 1200 मि.ग्रा./रोज

कैल्शियम की कमी के कारण हड्डियाँ पतली और कमजोर होने लगती हैं और ऑस्टियोपोरोसिस होने की सम्भावना बढ़ जाती है। कैल्शियम की कमी के अन्य लक्षण हैं – मांसपेशियों में ऐंठन, याददाश्त कम होना, डिप्रेशन, शरीर सुन्न होना और हाथ पैरों में झुनझुनी महसूस होना

आप अपने खान-पान और जीवनशैली में थोड़े से बदलाव करके कैल्शियम की कमी को दूर कर सकते हैं। यहाँ पर कैल्शियम की कमी को पूरा करने के 10 सबसे कारगर उपाय दिए जा रहे हैं –

1. कैल्शियम युक्त पदार्थों का अधिक सेवन करें

शरीर में कैल्शियम के स्तर को बढ़ाने के लिए सबसे सरल और जरुरी कदम होता है कैल्शियम युक्त पदार्थों का सेवन। कैल्शियम युक्त पदार्थों की लिस्ट निम्नलिखित है –

  • मलाई निकला हुआ कम वसा वाला दूध।
  • दुग्ध उत्पाद जैसे दही और मक्खन।
  • गहरे हरे रंग वाली पत्तेदार हरी साग सब्जियां जैसे पालक, गोभी, शलगम हरा कोलार्ड।
  • अनाज।
  • संतरे का जूस।
  • सार्डिन मछली।
  • शीरा।
  • सोयाबीन और इससे बने अन्य खाद्य पदार्थ।

2. सुबह की सूरज की रोशनी का आनंद लें

रोज सुबह 10 से 15 मिनट धूप लेने से शरीर को जरुरी विटामिन डी मिलता है। इस दौरान यह ध्यान रखें कि आपके शरीर के ज्यादा से ज्यादा अंगों पर डायरेक्ट सनलाइट पड़ना चाहिए। विटामिन डी शरीर को भोजन में से ज्यादा से ज्यादा कैल्शियम सोखने में मदद करता है।

ध्यान रखें – दोपहर के समय (10 AM से 4 PM के बीच) डायरेक्ट सनलाइट में न आयें और घर से बाहर निकलने से पहले कोई सनस्क्रीन क्रीम का इस्तेमाल करें।

3. विटामिन डी युक्त पदार्थों का सेवन करें

सूरज के जरिये विटामिन डी लेने के साथ-साथ विटामिन डी युक्त पदार्थों का भी सेवन करें। कुछ विटामिन डी युक्त पदार्थ निम्न हैं – वसायुक्त मछली, दूध, अनाज, पनीर, अंडा, मक्खन आदि। आप विटामिन अपने डॉक्टर की सलाह लेकर विटामिन डी के सप्लीमेंट (टेबलेट आदि) भी ले सकते हैं।

4. मैग्नीशियम युक्त पदार्थों का सेवन करें

मैग्नीशियम भी कैल्शियम के अवशोषण के लिए आवश्यक पोषक तत्व है। इसलिए मैग्नीशियम की कमी के कारण भी शरीर में कैल्शियम की कमी हो सकती है। चूँकि हमारा शरीर मैग्नीशियम को स्टोर नहीं करता है इसलिए मैग्नीशियम युक्त पदार्थों का नियमित सेवन जरुरी होता है।

मैग्नीशियम के सबसे अच्छे स्त्रोत निम्न हैं – पालक, शलगम, सरसों का साग, ब्रोकोली, एवोकैडो, खीरा (ककड़ी), हरी सेम, साबुत अनाज, कददू के बीज, तिल के बीज, बादाम और काजू।

5. कैल्शियम के सप्लीमेंट लें

शरीर की रोज की कैल्शियम की जरूरत को पूरा करने के लिए आप कैल्शियम की खुराक भी ले सकते हैं। बाजार में यह टेबलेट, कैप्सूल, सिरप और पाउडर के रूप में आसानी से उपलब्ध होती है।

खुराक की उचित मात्रा आपकी उम्र पर निर्भर करती है इसलिए इसे लेने से पहले अपने डॉक्टर से सलाह लें। खुराक के उचित अवशोषण के लिए इसे खाने के साथ या खाने के बाद लें।

नोट – कैल्शियम की खुराक के हाई डेली डोस न लें इससे हार्ट डैमेज हो सकता है और शरीर पर अन्य दुष्प्रभाव हो सकते हैं।

कैल्शियम की कमी को पूरा करने के लिए ऊपर दिए गए उपायों को अपनाने के साथ-साथ नीचे दिए गए खाद्य पदार्थों का सेवन कम करें –

1. ड्रिंकिंग सोडा का सेवन न करें

ड्रिंकिंग सोडा और खाने का सोडा शरीर में कैल्शियम के अवशोषण में बाधा डाल सकता है इसलिए इसके अधिक सेवन से बचना चाहिए।

ड्रिंकिंग सोडा के अधिक सेवन से खून में फॉस्फेट का स्तर बढ़ता है। खून में अधिक फॉस्फेट होने से हड्डियों में कैल्शियम का क्षय होने लगता है और यूरिन में कैल्शियम उत्सर्जन बढ़ जाता है। हाई फॉस्फेट लेवल कैल्शियम के अवशोषण को भी रोकता है।

2. अधिक कैफीन का सेवन न करें

कई लोग अपने दिन की शुरुआत एक स्ट्रोंग कॉफी पीने के साथ करते हैं। लेकिन यदि आपको कैल्शियम की कमी है तो इस आदत को आपको छोड़ना पड़ेगा। कैफीन हड्डियों की सतह से कैल्शियम को क्षय करके उन्हें पतला कर देती है।

2006 में ऑस्टियोपोरोसिस इंटरनेशनल जर्नल में पब्लिश हुए एक शोध के अनुसार रोज 4 कप कॉफी पीने से ऑस्टियोपोरोटिक फ्रैक्चर होने की सम्भावना काफी बढ़ जाती है।

दिन में दो कप कॉफी ज्यादा सेवन ने करें। अपने शरीर में कैफीन के प्रभाव को कम करने के लिए कॉफी को दूध के साथ सेवन करें। अपने शरीर को स्वस्थ रखने के लिए आपको कॉफी की जगह ग्रीन टी या अन्य हर्बल टी के सेवन की आदत डालनी चाहिए। इसके आलावा अन्य कैफीन युक्त पैय पदार्थों को न लें।

3. सोडियम के अधिक सेवन से बचें

नमक के अधिक सेवन से भी कैल्शियम की कमी हो सकती है। इसलिए अपने कैल्शियम लेवल को बढ़ाने के लिए नमक को कम खाएं।

शरीर में सोडियम का स्तर अधिक होने पर कैल्शियम के अवशोषण में कमी आती है। यही नहीं, सोडियम के कारण मूत्र के द्वारा कैल्शियम के क्षय की मात्रा भी बढ़ जाती है।

अपने भोजन को अधिक स्वादिष्ट बनाने के लिए नमक की जगह मसालों और हेर्ब्स का इस्तेमाल करें। इसके साथ ही प्रोसेस्ड फूड्स का सेवन न करें क्योंकि इनमें अत्यधिक सोडियम होता है।

27 Responses

  1. Sukriti shaw कहते हैं:

    सर मेरे दांतों के बीच दरारें आने लगी हैं जो पहले नहीं थी, एक साल के अन्दर मेरे दांतों में दरारे आ गई हैं. क्या करूँ?

  2. नारायण कहते हैं:

    सर मेरे हाथ-पैरों, सीने, पीठ, एड़ियां, घुटने, दांत, कमर में बहुत दर्द रहता है मुझे कैल्शियम की कमी है क्या? अगर हाँ तो उपचार बताएं.

  3. Mahendra kumar कहते हैं:

    मेरी पीठ में बहुत दर्द रहता है और मैं ostocalcium भी लेता हूँ, लेकिन कोई फर्क नहीं पड़ता.

  4. अनिल कुमार कहते हैं:

    सर मेरे पैरों में अक्सर दर्द होता रहता है, मैं क्या करूँ?

  5. शैलेश कुमार वर्मा कहते हैं:

    मेरे दाहिने पैर से चलने पर दाहिने साइड से तक-तक की आवाज आती है और उठने बैठने पर भी पटकने की आवाज आती है. डॉक्टर से भी चेक करवाया था ब्लड टेस्ट, सब कुछ नार्मल है फिर ऐसा क्यों होता है.

  6. Gudu Kumar yadav कहते हैं:

    Sir mera right hand me enthan hone lagta h kabhi kabhi head me chakkar aane lagta hai pura ang sun ho jata h koi medicine batane ki kripa kare

  7. दानिश कहते हैं:

    सर मेरी हार्ट रेट हमेशा बढ़ी हुई रहती है, मैंने हार्ट वाले डॉक्टर को दिखाया, उसने हार्ट नार्मल बताया है. क्या यह प्रॉब्लम कैल्शियम की कमी की तो नहीं है, क्यूंकि मेरा कैल्शियम थोड़ा कम आया है.

  8. गोविन्द नारायण जायसवाल कहते हैं:

    मेरी हड्डियां मुझे कमजोर महसूस होती है। मैं अपने खाने में किस खाद्य पदार्थों को शामिल करुं जिससे कि अपनी हड्डियों के साथ साथ अपने शरीर को भी फिट रख सकूं।

  9. गौरव तिवारी कहते हैं:

    मेरा कैल्शियम लेवल कम है मुझे इसके टेबलेट्स का नाम बताएं.

  10. सोहन सिंह कहते हैं:

    क्या कैल्शियम की कमी से आधी उम्र के बाद में चलने फिरने में प्रॉब्लम हो सकती है. ऐसा परिवार के चार लोगों को हो तो क्या यह कैल्शियम की कमी से ही हो सकता है?

  11. aakash rana कहते हैं:

    रनिंग करता हूँ, रेसर हूँ. घुटने से ऊपर की हड्डियों और मांसपेशियों में दर्द होता है. प्लीज हेल्प मी.

  12. भानु प्रताप कहते हैं:

    मुझे बहुत कमजोरी लगती है मैं क्या करूँ?

  13. शैलेन्द्र यादव कहते हैं:

    सर मेरा दो साल का बीटा है. उसके चलते समय पैर थोड़ा फैल जाता है और घुटने के नीचे थोड़े तिरछे भी हैं. ठीक करने का उपाय बताएं.

  14. मोहम्मद अली रजा कहते हैं:

    मैं आर्मी में जाना चाहता हूँ इसलिए मैं रनिंग करता हूँ और जब मैं रनिंग करता हूँ तो मेरे बाँये पैर की हड्डी में दर्द हो जाता है, मैं बहुत परेशान हूँ आप ही बताइए क्या करूँ.
    और मेरे पास सिर्फ दो महीने हैं आर्मी में जाने के लिए.

  15. रजनेश कहते हैं:

    पेट में कब्ज है.

  16. वारिस अंसारी कहते हैं:

    मेरी बैक बोन में दर्द है मुझे क्या करना चाहिए.

  17. मो. सद्दाक कहते हैं:

    सर मेरी बॉडी में कैल्शियम की कमी के कारण हड्डी पतली होती जा रही हैं।

  18. शरीफ कहते हैं:

    मेरा कैल्शियम 4 है और डायबिटीज 228 है. पैरों में कमजोरी रहती है और शरीर में दर्द होता है, प्लीज दवा बताओ.

    • उमेश कहते हैं:

      मेरे कमर में दर्द होता है, कभी कम हो जाता है तो कभी बढ़ जाता है. बहुत दावा करवाने के बाद भी आराम नहीं मिल रहा है.

  19. कुलदीप सिंह कहते हैं:

    सर मुझे हेल्थ बनानी है इसके लिए मुझे क्या करना पड़ेगा.

  20. रौशनी कहते हैं:

    मेरे सीने में खिचांव होता है, बादाम अंडा हरी पत्तेदार वाली सब्जी नहीं खा पाती. कभी खाना वहीं फस जाता है.

  21. राम विश्वकर्मा कहते हैं:

    सर मुझे कौन सी मेडिसिन खाना चाहिए?

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.