डायरिया के 10 घरेलू इलाज – Diarrhea Home Remedies in Hindi

डायरिया या दस्त लगना काफी परेशानी देने वाली समस्या होती है। क्यूंकि इसमें व्यक्ति को बार-बार मल त्यागने की इच्छा होती है और मल काफी पतला निकलता है। जब हमारे पेट और आंतों में अवांछनीय पदार्थ इकठ्ठा हो जाते हैं, तब हमारा शरीर डायरिया के जरिये इन पदार्थों को बाहर निकालता है।

डायरिया होने के मुख्य कारण

  • वायरल या बैक्टीरियल इन्फेक्शन
  • दूषित भोजन या पानी का सेवन
  • ऐसे खाद्य पदार्थ का सेवन करना जिससे आपको एलर्जी हो
  • फूड पॉइजनिंग
  • अत्यधिक शराब का सेवन
  • अत्यधिक चिंता या डिप्रेशन
  • कुछ मेडिसिन्स के साइड इफ़ेक्ट के कारण

डायरिया के लक्षण

बार-बार और काफी तेज मल त्यागने की इच्छा होना, उल्टी आना, पेट में दर्द होना, बार-बार प्यास लगना, बुखार, जी मचलना, भूख न लगना और डिहाइड्रेशन। डायरिया काफी तीव्र हो सकता है और एक या दो हफ्ते से ज्यादा समय तक हो सकता है। यदि आपको यह बीमारी क्रोनिक है या बार-बार होती है तो यह तीन-चार हफ्ते तक भी ठहर सकती है।

जब पानी या भोजन के जरिये डायरिया के बैक्टीरिया, पैरासाइट या वायरस हमारे शरीर में आ जाते हैं, तब यह आंत और डाइजेस्टिव सिस्टम की अंदरूनी परत पर अटैक करके उसे डैमेज कर देते हैं। इसके फलस्वरूप हमारे डाइजेस्टिव सिस्टम की भोजन में से फ्लूइड सोखने की क्षमता कम हो जाती है और वह तेजी से इसे बाहर की तरफ प्रेशर करता है जिससे डायरिया हो जाता है।

डायरिया नया हो या पुराना, यह हमारे रोजमर्रा के कामकाज पर काफी बुरा असर डालता है। कुछ आसान घरेलू उपचारों को अपनाकर इसके लक्षणों को कम किया जा सकता है।

यह भी पढ़ें

डायरिया के 10 घरेलू उपचार

डायरिया को नैचुरली ठीक करते हैं मेंथी के बीज (Fenugreek Seeds)

मेंथी में अत्यधिक मात्रा में mucilage content पाया जाता है जो डायरिया को प्राकृतिक रूप से ठीक करने में काफी मदद करता है। साथ ही यह मल को गाढ़ा करने में भी मदद करते हैं जिससे बार-बार तेज प्रेशर बनने की समस्या में राहत मिलती है।

  • एक-एक चम्मच मेंथी के बीज और दही को मिलाकर निगल लें।
  • या फिर, तीन चम्मच दही में डेढ़ चम्मच भुने हुए जीरा और एक चम्मच मेंथी के बीज मिलाकर सेवन करें। इसका सेवन दिन में दो या तीन बार करें।
  दस्त रोकने के 10 घरेलू उपाय - Loose Motion Home Remedies in Hindi

नोट – यदि डायरिया छोटे बच्चे को है तो उसे मेंथी का सेवन न करायें।

अदरक पाचन को सुधारता है (Ginger)

किसी भी प्रकार की पाचन सम्बन्धी समस्या में अदरक फायदेमंद होता है। डायरिया के इलाज में भी इसे फायदेमंद माना जाता है।

  • एक-एक चम्मच सूखे अदरक का पाउडर, जीरा पाउडर, दालचीनी पाउडर और शहद को आपस में मिलाकर सेवन करें। दिन में तीन बार इसका सेवन करें।
  • आप सूखे या ताजा अदरक से बनी चाय का भी सेवन कर सकते हैं। इसका सेवन दिन में दो या तीन बार करने से पेट की मांसपेशियों की ऐंठन ठीक होती है। कभी-कभी पेट की मांसपेशियों की ऐंठन के कारण भी डायरिया हो जाता है।
  • या फिर, अदरक और नींबू के जूस को बराबर मात्रा में मिलाएं और ऊपर से थोड़ी सी काली मिर्च का पाउडर डाल दें। इस मिश्रण का सेवन दिन में तीन बार करने से डायरिया तेजी से ठीक होता है।
  • आप अदरक के कैप्सूल का सेवन भी कर सकते हैं या फिर अदरक से बने खाद्य पदार्थ जैसे कूकीज, ब्रेड या शरबत का भी सेवन कर सकते हैं।

नोट – जिन लोगों को उच्च रक्तचाप (हाई ब्लड प्रेशर) की समस्या है वो डायरिया के इलाज के लिए अदरक का प्रयोग न करें।

डायरिया के बैक्टीरिया को खत्म करता है सेब का सिरका (Apple Cider Vinegar)

सेब के सिरका में एंटीबैक्टीरियल प्रॉपर्टीज होती हैं जो डायरिया के बैक्टीरिया को खत्म करने में मदद करती हैं। साथ ही, इसमें पेक्टिन (pectin) नामक केमिकल होता है जो पेट और आंतों पर प्रोटेक्टिव लेयर बनाकर बैक्टीरिया से बचाता है।

  • एक गिलास पानी में दो या तीन चम्मच सेब का सिरका मिलाएं।
  • रोज दिन में दो बार इस जूस का सेवन करें।
  दस्त रोकने के 10 घरेलू उपाय - Loose Motion Home Remedies in Hindi

मल को गाड़ा करता है केला (Banana)

केला भी डायरिया को ठीक करने में मदद करता है। इसमें पेक्टिन (pectin) नामक घुलनशील फाइबर होता है जो आंत में एक्स्ट्रा लिक्विड को सोखने में मदद करता है जिससे मल में पानी की मात्रा कम हो जाती है।

साथ ही, केला में अत्यधिक मात्रा में पोटैशियम होता है जो डायरिया के कारण हुई इलेक्ट्रोलाइट्स की कमी को पूरा करता है।

  • एक केले को मसलकर पेस्ट बना लें। अब इसमें एक चम्मच इमली का पेस्ट और एक चुटकी नमक मिला लें। रोज दिन में दो बार इसका सेवन करें।
  • अपने पाचन को ठीक बनाये रखने के लिए रोज नाश्ते में दो केलों का सेवन करें।

पाचन को ठीक करते हैं दही के गुड बैक्टीरिया (Yogurt)

दही में पाचन ठीक करने वाले गुड बैक्टीरिया होते हैं जो डायरिया से जल्दी ठीक करने में मदद करते हैं। यह बैक्टीरिया पेट और आंतों में प्रोटेक्टिव लेयर बनाते हैं और लैक्टिक एसिड बनाने में मदद करते हैं जिससे डायरिया के बैक्टीरिया को बाहर निकालने में मदद मिलती है।

इस बीमारी से बचे रहने के लिए और अपने पाचन को ठीक रखने के लिए नियमित दही का सेवन करें।

कैमोमाइल (Chamomile)

कैमोमाइल को कई आंत सम्बन्धी समस्यायों में फायदेमंद माना जाता है। इसमें antispasmodic (मांसपेशियों की अकड़न ठीक करने वाली) प्रॉपर्टीज और अत्यधिक tannins पदार्थ मौजूद होता है जो डायरिया में काफी राहत प्रदान करता है।

  • एक कप उबलते पानी में एक चम्मच कैमोमाइल फ्लावर और एक चम्मच पेपरमिंट की पत्तियों का पाउडर डालें। उबलने के बाद इसे हल्का ठंडा होने दें और फिर सेवन करें। हीलिंग प्रोसेस को तेज करने के लिए इस हर्बल टी का सेवन दिन में तीन बार करें।
  • या फिर टी बनाने के लिए मार्किट में उपलब्ध कैमोमाइल टी बैग्स का भी इस्तेमाल किया जा सकता है।

ब्लू बैरीज़ (Blueberries)

ब्लू बेरी में anthocyanosides नामक एलिमेंट पाया जाता है, जिसमें एंटीबैक्टीरियल और एंटीऑक्सीडेंट प्रॉपर्टीज होती हैं। ब्लू बेरी में अत्यधिक मात्रा में pectin नामक घुलनशील फाइबर भी पाया जाता है जो डायरिया के लक्षणों को कम करने में मदद करता है।

  • दिन में कई बार थोड़ी-थोड़ी मात्रा में ब्लू बेरीज को चबाकर खाएं। यह डायरिया पैदा करने वाले रोगाणुओं को खत्म करने में मदद करेगी।
  • या फिर, आप ब्लूबेरीज से बनी चाय या सूप का भी सेवन कर सकते हैं।
  डायरिया को जल्दी ठीक कैसे करें - How To Get Rid of Diarrhea

संतरे के छिलकों की चाय (Orange Peel Tea)

संतरे के छिलकों से बनी चाय भी डायरिया के लक्षणों को करने में मदद करती है और पाचन को ठीक करती है।

  • ताजा संतरे के छिलकों को पहले अच्छे से धो लें और फिर छोटे-छोटे टुकड़ों में काट लें।
  • अब इन टुकड़ों को डेढ़ कप उबलते पानी में डाल दें और कुछ देर के लिए उबलने दें। अब इसमें स्वादानुसार शहद मिलाकर सेवन करें।
  • इस चाय का सेवन दिन में दो या तीन बार करें।

डायरिया से लड़ने के लिए आलू खाएं

आलू में अत्यधिक मात्रा में स्टार्च होता है जो डायरिया से लड़ने में मदद करता है।

  • दिन में कई बार थोड़ी-थोड़ी मात्रा में उबले हुए आलू का सेवन करें। इससे खोये हुए पोषक पदार्थों की फिर से पूर्ति होगी और पेट की खराबी को ठीक होने में मदद मिलेगी।
  • या फिर, आप आलू से बनी सब्जी, हलवा आदि का भी सेवन कर सकते हैं।

नोट – तेल में तले आलू जैसे चिप्स आदि का सेवन न करें क्यूंकि इससे आपकी स्थिति और भी ज्यादा बिगड़ सकती है।

सफ़ेद चावल (White Rice)

सफेद चावल में अत्यधिक मात्रा में स्टार्च होता है और यह आसानी से पच जाता है, इसलिए इसे डायरिया के इलाज में काफी फायदेमंद माना जाता है। सादा उबले सफेद चावल डायरिया में ज्यादा फायदेमंद होते हैं।

अपने भोजन में सफेद चावल को भी शामिल करें।

डायरिया को ठीक करने के लिए ऊपर दिए गए उपचारों को नियमित अपनाएं। साथ ही, पानी, जूस, चावल का पानी, नारियल पानी आदि तरल पदार्थों का अधिक सेवन करें और अपने भोजन में ज्यादा से ज्यादा स्टार्च युक्त पदार्थों को शामिल करें।

ज्यादातर लोगों को इन उपचारों के जरिये डायरिया को ठीक करने में कामयाबी मिल जाती है। लेकिन, यदि आपकी स्थिति में कोई बदलाव नहीं आ रहा या आपकी स्थिति और ज्यादा बिगड़ती जा रही है तो तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.