कोलेस्ट्रॉल कम करने वाले 10 खाद्य पदार्थ – Cholesterol Diet Food List in Hindi

कोलेस्ट्रॉल बढ़ने की समस्या अक्सर अस्वस्थ जीवन शैली (unhealthy lifestyle) जीने की वजह होती है जैसे अत्यधिक तले भुने और वसा युक्त भोजन का सेवन करना और व्यायाम और शारीरिक गतिविधि आदि न करना।

हाई कोलेस्ट्रॉल के अन्य कारण हैं – मोटापा, धूम्रपान, शराब, उम्र बढ़ना (उम्र बढ़ने के साथ नसें भी सिकुड़ने लगती हैं), जेनेटिक्स (genetics) और कुछ अन्य बिमारियों के कारण जैसे मधुमेह, उच्च रक्तचाप और किडनी या लिवर डिजीज आदि।

कोलेस्ट्रॉल खून में पाया जाने वाला एक वसायुक्त पदार्थ होता है जिसका काम होता है कोशिकयों को बनाना और संभालना और सूरज से विटामिन डी लेना।

लेकिन जब शरीर में कोलेस्ट्रॉल की मात्रा एक निश्चित सीमा से अधिक हो जाती है तो यह शरीर के लिए हानिकारक साबित होने लगता है कई गंभीर समस्यायों को जन्म दे सकता है। शरीर में जरुरत से ज्यादा कोलेस्ट्रॉल बढ़ने को मेडिकल भाषा में hypercholesterolemia कहते हैं। यह अतिरिक्त कोलेस्ट्रॉल खून की नसों की दीवारों में जमा होने लगता है जिसके कारण खून के प्रभाह में रुकावट पैदा होने लगती है और हार्ट डिजीज होने की सम्भावना बढ़ जाती है।

आमतौर पर खून में कोलेस्ट्रॉल का लेवल 200 mg/dL से कम होना चाहिए। 200 से 239 mg/dL की मात्रा को खतरे की शुरुआत माना जाता है और जब यह मात्रा 240 mg/dL से अधिक हो जाती है तो व्यक्ति को हाई कोलेस्ट्रॉल की समस्या हो जाती है।

यहाँ पर 10 सबसे कारगर घरेलू खाद्य पदार्थ दिए जा रहे हैं जिनके सेवन से हाई कोलेस्ट्रॉल को नियंत्रित किया जा सकता है-

1. धनिया के बीज (Coriander Seeds)

शोधों से यह पता है कि धनिया के बीज टोटल कोलेस्ट्रॉल, LDL (‘खराब’ कोलेस्ट्रॉल) और ट्राइग्लिसराइड्स (triglycerides) के लेवल को कम करने में मदद करते हैं। धनिया के बीजों में hypoglycemic effects भी होते हैं जो मधुमेह को नियंत्रित करने में फायदेमंद हैं।

  • दो चम्मच धनिया के बीजों के पाउडर को एक कप पानी में मिलाएं।
  • अब इस मिश्रण को उबाल कर छान लें।
  • अब इस पानी को दिन में दो बार सेवन करें।
  • आप इसमें दूध, चीनी और इलाइची मिलाकर अपनी रोजाना की चाय की जगह भी सेवन कर सकते हैं।

2. प्याज (Onion)

हाई कोलेस्ट्रॉल को नियंत्रित करने में लाल प्याज काफी फायदेमंद होती है। हांगकांग में हुए एक शोध के अनुसार लाल प्याज बैड कोलेस्ट्रॉल को कम करके गुड कोलेस्ट्रॉल के लेवल बढ़ाता है। इससे हार्ट डिजीज होने की सम्भावना काफी कम हो जाती है।

  • एक-एक चम्मच प्याज के रस और शहद को मिला लें। इसे रोज एक बार सेवन करें।
  • एक प्याज को बारीक काटकर एक कप छाछ में डाल दें। ऊपर से एक चौथाई चम्मच काली मिर्च डाल दें और अच्छी तरह से घोल लें। इस मिश्रण का नियमित सेवन करें।
  • अपने भोजन में प्याज, अदरक और लहसुन का नियमित इस्तेमाल करें।

3. आंवला

आंवला शरीर में प्राकृतिक hypolipidemic agent की तरह काम करता है और सीरम में लिपिड की मात्रा को कम करता है। इंटरनेशनल जर्नल ऑफ मेडिकल रिसर्च एंड हेल्थ साइंस में पब्लिश हुए एक शोध के अनुसार आंवला के हमारे शरीर पर antihyperlipidemic, anti-atherogenic और hypolipidemic प्रभाव होते हैं।

  • एक चम्मच सूखे आंवला के पाउडर को एक गिलास गर्म पानी में मिला लें।
  • इसे रोज सुबह खली पेट पियें।

4. सेब का सिरका (एप्पल साइडर विनेगर)

सेब का सिरका हमारे शरीर के टोटल कोलेस्ट्रॉल और ट्राइग्लिसराइड के लेवल को कम करने में मदद करता है। इसके साथ ही यह अन्य परेशानियों जैसे एसिड रिफ्लक्स (अम्ल प्रतिवाह), उच्च रक्तचाप, गाउट, साँस के संक्रमण को ठीक करने का अच्छा घरेलू उपचार है।

  • एक चम्मच आर्गेनिक एप्पल साइडर विनेगर को एक गिलास पानी में मिला लें।
  • इसे कम से कम एक महीने के लिए दिन में दो बार सेवन करें।

आप धीरे-धीरे एप्पल साइडर विनेगर की मात्रा को दो चम्मच तक बढ़ा सकते हैं। यदि आपको इसका स्वाद पसंद नहीं है तो इसे संतरे के जूस, एप्पल जूस, अंगूर के जूस आदि में मिलाकर सेवन कर सकते हैं।

5. संतरे का जूस

हाई कोलेस्ट्रॉल को प्राकृतिक रूप से कम करने के लिए रोज तीन कप संतरे के जूस का सेवन काफी कारगर नुस्खा है। क्योंकि इसमें अत्यधिक मात्रा में विटामिन सी, फोलेट (folate) और flavonoids होते हैं।

अमेरिकन जर्नल ऑफ क्लिनिकल न्यूट्रीसन में पब्लिश हुई एक रिसर्च के अनुसार रोज 750 mL शुद्ध संतरे के जूस का सेवन करने से हाई कोलेस्ट्रॉल के मरीजों में गुड कोलेस्ट्रॉल का लेवल बढ़ता है जिससे उनके बैड और गुड कोलेस्ट्रॉल का अनुपात ठीक हो जाता है।

स्टेरोल (sterol) से युक्त संतरे का सेवन और भी फायदेमंद होता है। शोधों से यह पता चला है कि रोज 3 ग्राम फाइटो-स्टेरोल के सेवन से कोलेस्ट्रॉल का लेवल 11 से 15 प्रतिशत तक कम हो सकता है। इसलिए हो सके तो स्टेरोल युक्त संतरों का सेवन करें।

6. नारियल का तेल

वसायुक्त होने के बावजूद नारियल के तेल हाई कोलेस्ट्रॉल में फायदेमंद माना जाता है। इसमें लोरिक एसिड होती है जो HDL (गुड कोलेस्ट्रॉल) की मात्रा को बढ़ाने में मदद करती है और LDL/HDL के अनुपात को ठीक करती है।

रोज आर्गेनिक नारियल के तेल एक से दो चम्मच मात्रा को अपने भोजन में शामिल करें। रिफाइंड या प्रोसेस्ड नारियल के तेल का इस्तेमाल न करें।

7. ओटमील

रोज एक कटोरी ओटमील का सेवन कोलेस्ट्रॉल के लेवल कम करने के लिए काफी कारगर तरीका है। इसमें घुलनशील फाइबर पाया जाता है जो कोलेस्ट्रॉल के अवशोषण को कम करता है और ख़राब कोलेस्ट्रॉल घटाता है।

एक कटोरीओटमील में लगभग तीन ग्राम घुलनशील फाइबर और बीटा-ग्लूकान होता है।

8. मछली का तेल

मछली के तेल में ओमेगा-3 फैटी एसिड्स होती हैं जो ट्राइग्लिसराइड (रक्त में पाया जाने वाला वसा) को करती हैं और हार्ट डिजीज होने से बचाती हैं।

रोज लगभग दो से चार ग्राम मछली के तेल का सेवन करें। यदि आप शाकाहारी हैं तो मछली के तेल की जगह अलसी के बीजों का सेवन करें, इनमें भी भरपूर ओमेगा-3 फैटी एसिड्स होते हैं।

9. रेड यीस्ट राइस (Red Yeast Rice)

रेड यीस्ट राइस में मोनाकोलिंस नामक यौगिक पाया जाता है जो कोलेस्ट्रॉल सिंथेसिस को रोककर उसके लेवल को कम करने में मदद करता है। चीन में इसे सैकड़ों सालों से औषधि के रूप में इस्तेमाल किया जाता आ रहा है। यदि रेड यीस्ट राइस बाजार में उपलब्ध न हो तो आप इसकी टेबलेट्स का सेवन भी कर सकते हैं जो आसानी से किसी भी फार्मेसी में मिल जाती हैं।

हाई कोलेस्ट्रॉल में रेड यीस्ट राइस की 1200 से 2400 के बीच की टेबलेट्स का सेवन दिन में एक या दो बार करें। विभिन्न शोधों से यह पता चला है कि की इसके नियमित सेवन से LDL का लेवल काफी कम हो जाता है। हालाँकि इसके सेवन के दौरान सतर्क रहें क्योंकि इसके उचित डोज और लॉन्ग-टर्म इफ़ेक्ट का अभी ठीक से पता नहीं चला है।

रेड यीस्ट राइस के कुछ प्रोडक्ट्स में lovastatin और अन्य केमिकल हो सकते हैं जिनके कई साइड इफेक्ट्स होते हैं। इसलिए इसके सेवन से पहले अपने डॉक्टर से सलाह जरूर लें। इन सप्लीमेंट का सेवन गर्भवती महिलाएं, बच्चों को दूध पिलाने वाली महिलाएं और लिवर के मरीज न करें।

10. नट्स

अखरोट, बादाम, मूंगफली, अखरोट, पिस्ता, पेकान और अन्य नट्स में स्टेरोल और फाइबर होते हैं जो कोलेस्ट्रॉल को कम करते हैं। खासतौर से अखरोट को कोलेस्ट्रॉल और ट्राइग्लिसराइड को कंट्रोल करने में काफी फायदेमंद माना जाता है।

इसलिए विभिन्न स्वादिष्ट नट्स का सेवन नियमित रूप से करें। इसके साथ ही साबुत अनाज और हाई फाइबर युक्त खाद्य पदार्थों का सेवन भी अधिक करें।

ऊपर दिए उपायों को करने के साथ-साथ अपने भोजन और जीवनशैली को भी ठीक करें। अपने भोजन में से अत्यधिक तले-भुने और वसायुक्त पदार्थों को बाहर निकाल दें।

1 Response

  1. SAJID A.C कहते हैं:

    कोलेस्ट्रॉल का देसी नुस्खा बताएं.

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.