कब्ज दूर करने के 10 घरेलू उपाय – Constipation Home Remedies in Hindi

कब्ज (constipation) एक बहुत ही common digestive disorder है जो किसी भी उम्र के व्यक्ति को हो सकता है। कब्ज के कारण मल त्यागने में परेशानी होती है और मल त्यागने के लिए व्यक्ति को काफी जोर लगाना पड़ता है।

कब्ज के लक्षण हैं – पेट फूलना, acidity होना, मल त्यागने की इच्छा तो होना लेकिन मल न निकलना, भूख न लगना (loss of appetite), खट्टी डकारें आना, सिर दर्द होना, डिप्रेशन, मुंहासे और मुंह में छाले होना

कब्ज होने के सबसे मुख्य कारण हैं – अनियमित खान-पान, कम पानी पीना, अत्यधिक तले-भुने खाने का सेवन, अनियमित शौच की आदत, शारीरिक श्रम का अभाव, पेट की मांसपेशियां कमजोर होना, बवासीर होना, तनाव में रहना और कुछ medicines के side effects के कारण

कब्ज होने पर हमें काफी परेशानी का सामना करना पड़ता है। इसके कारण हम comfortable feel नहीं करते और किसी भी काम में हमारा मन नहीं लगता। ऐसे कई घरेलू उपाय हैं जिनको अपनाकर पाचन तंत्र की कार्य क्षमता को बढ़ाया जा सकता है और कब्ज से छुटकारा पाया जा सकता है। यह उपाय अपनाना काफी सरल है और यह काफी फायदेमंद भी होते हैं।

1. निम्बू पानी

निम्बू पानी digestive system को stimulate करके कब्ज को दूर करता है। यह constipation का सबसे सरल और कारगर उपाय है जिसे आप घर पर ही कर सकते हैं।

  • निम्बू को आधा काटकर उसका रस एक गिलास पानी में निचोड़ लें। आप इसमें स्वादानुसार सेंधा नमक और शहद भी डाल सकते हैं।
  • निम्बू पानी को आप रोज सुबह खली पेट एक गिलास पियें। आप एक गिलास निम्बू पानी शाम को भी पी सकते हैं।
  • इस उपचार को एक हफ्ते तक लगातार अपनाएं और results देखें।

2. सौंफ

सौंफ का प्रयोग कब्ज, अपच, सूजन और irritable bowel syndrome के उपचार में किया जाता है क्योंकि यह digestive system की मांसपेसियों के movement को बढ़ाती है।

  • 1 कप सौंफ के बीजों को सुखाकर भून लें।
  • इसके बाद इसे बारीक पीसकर एक जार में भरकर रख लें।
  • रोज इस पाउडर को आधा चम्मच लेकर पानी के साथ सेवन करें।

3. अंजीर

अंजीर में अत्यधिक मात्रा में fiber पाया जाता है और यह प्राकृतिक औषधि की तरह काम करते हैं। वो लोग जिन्हें काफी लम्बे समय से कब्ज है इसे अपनी diet में जरुर शामिल करें। ताजा और सूखे अंजीर दोनों ही constipation के इलाज के लिए काफी फायदेमंद हैं। जब भी ताजा अंजीर बाजार में उपलब्ध हों तो उन्हें छिलके के साथ सेवन करें क्योंकि उन्हें छिलकों में ही ज्यादातर fiber और calcium होता है।

  • दो या तीन बादाम और सूखे अंजीर लें।
  • इन्हें कुछ घंटों के लिए पानी में भिगोकर रख दें।
  • बादाम के छिलकों को निकाल दें और फिर इन्हें पीसकर पेस्ट तैयार करें।
  • रात को सोने से पहले इस पेस्ट को एक चम्मच शहद के साथ सेवन करें।

4. अरंडी का तेल

अरंडी का तेल stimulant औषधि की तरह काम करता है। यह small और large intestine को stimulate करता है और bowel movement को improve करता है। अरंडी के तेल को सीधे एक या दो चम्मच लेकर खली पेट निगल लें। स्वाद बनाने के लिए इसे आप किसी fruit juice के साथ ले सकते हैं।

कुछ घंटो के अन्दर ही आपको अपनी condition में बढ़ा improvement देखने को मिलेगा। आप इस उपाय को अधिक समय तक नियमित न अपनाएं क्योंकि इसके कई side effects भी होते हैं।

5. शहद

शहद कब्ज में आराम पाने के लिए काफी effective role अदा करता है क्योंकि यह mild laxative की तरह काम करता है। Constipation से राहत पाने के लिए आप इसे रोज ले सकते हैं।

  • रोज दिन में तीन बार दो-दो चम्मच शहद का सेवन करें।
  • आप एक चम्मच शहद को निम्बू पानी के गिलास में डालकर भी सेवन कर सकते हैं। इसे रोज सुबह खली पेट सेवन करें।

6. अलसी

अलसी में कई चिकित्सीय गुण होते हैं जैसे इसमें काफी मात्रा में fiber और omega-3 fatty acids पाया जाता है। कब्ज की काफी serious अवस्था हो जाने पर अलसी बहुत फायदा करती है।

  • 1 गिलास पानी में एक चम्मच अलसी के बीज डालकर कुछ घंटों के लिए रख दें। रोज सोने से पहले इस पानी को पियें। सुबह उठकर आपका मल त्याग काफी अच्छा होगा।
  • आप सिर्फ 2 या 3 चम्मच अलसी के बीजों को पानी के साथ खा भी सकते हैं।

7. अंगूर

अंगूर में insoluble fiber होता है जो अच्छे अच्छे मल त्याग के लिए फायदेमंद है।

  • रोज एक कटोरी अंगूर या इसके juice का सेवन करें।
  • 10 से 12 सूखे अंगूरों को दूध में 10 मिनट के लिए गर्म करके शाम को सेवन करें। यह नुस्खा कब्ज से पीड़ित छोटे बच्चों के लिए काफी फायदेमंद होता है।

अगर ताजा अंगूर available न हों तो किशमिश को पानी में एक दिन के लिए भिगोये रखकर फिर सेवन करें। उचित फायदा पाने के लिए आप इसे खाली पेट ही सेवन करें।

8. पालक

पालक digestive tract को healthy रखने के लिए काफी फायदेमंद होती है, specially जब आपको कब्ज हो। पालक में ऐसे कई components होते हैं जो intestinal tract को साफ़ रखते हैं और उसकी muscles को मजबूत बनाते हैं।

  • आप पालक का सेवन सीधे खाकर या फिर सब्जी बनाकर भी कर सकते हैं।
  • यदि आपको गंभीर कब्ज (severe constipation) है तो आधे गिलास पालक के juice में आधा गिलास पानी मिलाकर दिन में दो बार सेवन करें।

9. शीरा (Molasses)

मल त्याग की प्रक्रिया को आसान बनाने के लिए शीरा काफी फायदेमंद औषधि है।

  • रात को सोने से पहले एक चम्मच शीरा का सेवन करें। अगर आपको इसका स्वाद पसंद नहीं है तो इसे आप दूध या fruit juice में मिलकर भी सेवन कर सकते हैं। अगर problem काफी serious हो तो 2 या 3 चम्मच शीरा का सेवन करें।
  • सुबह दो चम्मच शीरा को दो चम्मच peanut butter के साथ मिलाकर सेवन करें।

चूंकि इसमें high calories होती हैं इसलिए इसका सेवन रोज न करें।

10. पानी और Fiber

कब्ज होने का सबसे मुख्य कारण होता है भोजन में fiber की कमी। Fiber एक ऐसा compound है जो पानी को intestine में बांधे रखता है, जिसके फलस्वरूप मलत्याग की प्रक्रिया आसान हो जाती है।

अपने भोजन में high fiber foods का सेवन करना बहुत जरुरी होता है जैसे beans, आलू, गाजर, brown rice, आलूबुखारा, गेंहू, ताजा फल, हरी सब्जियां, बादाम, pumpkin seeds, broccoli, मटर और दालें आदि।

कब्ज के दौरान खूब पानी या अन्य तरल पदार्थ का सेवन भी जरुरी होता है। दिन में कम से कम 8 गिलास पानी पियें। अच्छा result पाने के लिए रात को ताम्बे के बर्तन में पानी भरकर रख दें और दिनभर इसका सेवन करें।

9 Responses

  1. कमलेश कहते हैं:

    सर मुझे सुबज उठते ही मोशन लगता है, मुझे दिन में तीन चार बार जाना पड़ता है.

  2. इस्तखार अंसारी कहते हैं:

    मुझे कब्ज है, टॉयलेट आने जैसी फीलिंग होती है मगर टॉयलेट नहीं आती है. खाना खाने के तुरंत बाद टॉयलेट जाना पड़ता है मैं क्या करूँ आप बताएं.

  3. प्रभु कहते हैं:

    सिर में दर्द और कब्ज एकसाथ रहता है, दवा बताएं.

  4. राजू कहते हैं:

    त्रिफला चूर्ण का प्रयोग करें.

  5. गुरदेव सिंह कहते हैं:

    सर मुझे बहुत पुरानी कब्ज है जिस कारण मुझे नींद नहीं आती है और माइंड पर हमेशा प्रेशर बना रहता है.

    • संतोष कहते हैं:

      सर मुझे कब्ज दो महीने से है, इस वजह से मेरा वजन काफी बढ़ गया है और मेरी पूरी बॉडी में दर्द होता है.

  6. प्रताप कहते हैं:

    डाक्टर साहब शौच करते समय मेरा गुदा बाहर निकल अाता है उसको हाथ से अन्दर करना पड़ता है और अन्दर करते समय उसमें बहुत छिछ चलता हे इसका उपाए बताए

  7. सुनील कहते हैं:

    सर मेरा नाम सुनील है। मेरे गुदा के बाहर की साइड में मीठी खुजली है। और फ्रेश होने के बाद मिर्ची सी लगती है। लेकिन खून नहीं आता है और दर्द ज्यादा नहीं होता है, हलकी मात्रा में होता है। इसको जड़ से मिटाने के लिए कोई उपाय बताएं।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.